September 26, 2021

vedicexpress

vedicexpress

प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से बात की, बाढ़ से निपटने में हरसंभव मदद का भरोसा दिया


महाराष्ट्र में रत्नागिरि जिले के चिपलून और खेड तथा रायगढ़ जिले के महाद में भीषण बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो गई है। राष्ट्रीय आपदा मोचन बल के 18, तटरक्षक बल के दो और कई स्थानीय दल राहत और बचाव कार्यों के लिए राज्य के विभिन्न हिस्सों में तैनात किए गए हैं। राहत कार्यों में नौसेना भी शीघ्र ही शामिल हो जाएगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कल मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से बात की और स्थिति पर विचार-विमर्श किया। उन्होंने बाढ़ से निपटने में केंद्र से हरसंभव मदद का भरोसा दिया।

कोल्हापुर जिले में पंचगंगा नदी आधी रात से खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। कोल्हापुर में कई राजमार्ग और अन्य मार्ग बंद हैं। राष्ट्रीय आपदा मोचन बल ने कारवीर और शिरोल तालुका में दो दल तैनात किए हैं। राहत और बचाव कार्य चलाया जा रहा है। कोयना और अन्य प्रमुख बांधों से पानी छोड़ा जा रहा है। नदी का पानी निचले इलाके के कुछ गांवों में पहुंच गया है। करीब एक हजार परिवारों के सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया है। सांगली में कृष्णा नदी खतरे के निशान के पास पहुंच गई है। यहां पर 150 से अधिक परिवारों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया है। पुणे में खड़गवासला बांध से भी पानी छोड़ा जा रहा है।