October 23, 2021

vedicexpress

vedicexpress

जर्जर आवास की समस्या बता रहे थे पुलिसकर्मी, डीआइजी बोले मेरा आवास देखा है

भोपाल। राजधानि भोपाल रेंज डीआइजी संजय तिवारी ने पुलिस लाइन में वार्षिक निरीक्षण किया। सुबह करीब 9 बजे से उन्होंने परेड, बलवा ड्रिल का जायजा लिया। इसके बाद पुलिस सम्मेलन में पुलिस कर्मियों की समस्याएं भी सुनीं। इस दौरान कुछ पुलिस कर्मियों ने शासकीय आवासों के जर्जर होने की परेशानी बताई। पुलिस कर्मियों ने कहा कि आवास क्षतिग्रस्त हो रहे हैं, छत से बारिश का पानी आता है, दीवारों में दरारें आ रही हैं, उनकी मरम्मत नहीं हो रही है। ये समस्या सुनकर डीआइजी संजय तिवारी का दर्द भी झलक पड़ा। उन्होंने तुरंत कहा कि मेरा आवास किसी ने देखा है, वह भी शासकीय है। मरम्मत के लिए शासन से बजट की जरूरत होती है। उन्होंने कहा कि यदि हम उसमें निवास करते हैं तो हमें ही उसे ठीक रखना होगा। हालाकि उन्होंने आरआइ को आवासों की मरम्मत करवाने के निर्देश भी दिए। आरआइ मिलन जैन ने डीआइजी को बताया कि शासन से बजट आया है, लेकिन एक आवास पर दस हजार रुपये से ज्यादा खर्च नहीं कर सकते। डीआइजी ने कहा कि जिनके भी आवास मरम्मत योग्य हैं वे अवगत कराएं ताकि उसी बजट में जरूरी काम हो सकें। इसके अलावा पुलिस कर्मियों को मिलने वाले खराब वाहनों, वेतन वृद्धी रुकने, ड्यूटी के दौरान भोजन के लिए केवल 25 रुपये मिलने का मुद्दा भी उठाया गया। इस दौरान एसपी मोनिका शुक्ला, एएसपी संजय साहू मौजूद थे।