April 19, 2021

vedicexpress

vedicexpress

स्पोर्टस इंडस्ट्री जीडीपी बदलने में कर सकती है महत्वपूर्ण योगदान -केंद्रीय खेल मंत्री श्री रिजीजू

मध्यप्रदेश खेलों में चेंज मेकर बनकर उभरा – खेल मंत्री श्रीमती सिंधिया
मध्यप्रदेश को मिला “बेस्ट स्टेट फॉर प्रमोटिंग स्पोर्टस अवार्ड”
दो दिवसीय 10वें फिक्की TURF-2020 ग्लोबल समिट का शुभारंभ

फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री दो दिवसीय ‘वर्चुअल फिक्की TURF-2020’ ग्लोबल स्पोर्टस समिट का शुभारंभ केंद्रीय खेल एवं युवा मामलों के मंत्री श्री किरण रिजीजू ने किया। इस अवसर पर प्रदेश की खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया भी उपस्थित थीं। इस सम्मेलन में पहली बार वेबिनार के माध्यम से खेल एवं फिटनेस प्रदर्शनी आयोजित की गई। साथ हीफिक्की द्वारा भारतीय खिलाड़ियों की उपलब्धियों के लिए खेल पुरस्कार भी दिया गया।

केंद्रीय खेल एवं युवा मामलों के मंत्री श्री किरण रिजीजू ने कहा कि भारत की जीडीपी को बदलने में स्पोर्टस इंडस्ट्री एक अहम किरदार निभा सकती है। उन्होंने कहा कि खेल संस्कृति के अभाव ने हमें धीमा कर दिया है। खेल को रोजगार और राजस्व देने के मामले में दुनिया के सबसे बड़े उद्योगों में से एक माना जाता है। श्री रिजीजू ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के फिट इंडिया का सपना पूरा करने के लिए हमें खेलों के प्रति व्यक्तिगत मानसिकता भी विकसित करनी होगी। सिर्फ राज्य के योगदान से नहीं लोगों की भागीदारी से भी एक स्पोर्टिंग देश बनाया जा सकता है। नई शिक्षा नीति में भी खेलों को बढ़ावा देने की बात कही गयी है।

प्रदेश की खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया ने कहा कि मध्यप्रदेश राज्य वर्तमान में खेलों में चेंज मेकर बनकर उभरा है। पहले मध्यप्रदेश का नाम खेल के क्षेत्र में ना के बराबर था, परंतु मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में खेलों को नई दिशा दी गयी है। आज राज्य में ओलंपिक खिलाड़ी बेहतर अधोसंरचना, अंतरराष्ट्रीय स्तर की खेल सुविधाएँ और प्रशिक्षक उपलब्ध हैं। श्रीमती सिंधिया ने कहा कि हमने साबित कर दिया कि राज्य सरकार भी खेलों में चेंज मेकर बन सकती है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में प्रदेश में 19 विभिन्न खेल अकादमियां संचालित हैं। वर्ष 2006 में जब पहली महिला हॉकी अकादमी की शुरुआत हुई थी, तब महिला हॉकी ज्यादा लोकप्रिय नहीं थी। वर्तमान भारतीय महिलाओं की टीम में 60 प्रतिशत खिलाड़ी मध्यप्रदेश राज्य अकादमी की हैं। यह हमारे लिए गर्व की बात है। प्रदेश लगातार विभिन्न खेलों में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मेडल ले रहा है। श्रीमती सिंधिया ने बताया कि वर्तमान में हम प्रशिक्षकों और खिलाड़ियों के मेंटल वैलनेस, स्पोर्टस साइंस आदि पर अंतरराष्ट्रीय लॉफबोरॉ यूनिवर्सिटी के समन्वय से प्रशिक्षण दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि हम ग्रामीण प्रतिभाओं को निखारने के लिए विभिन्न टैलेंट सर्च कार्यक्रम आयोजित कर उन्हें अकादमी में प्रशिक्षण के लिए प्रेरित कर रहे हैं।

अंतर्राष्ट्रीय बैडमिंटन खिलाड़ी पी.वी. सिंधु ने कहा कि इस प्रकार के आयोजन खेलों को एक नई दिशा देंगे। खेल हमारे जीवन की नकरात्मकता को बदलने और अनुशासन से जीने की क्षमता को बढ़ावा देते हैं।

इस अवसर पर ऑस्ट्रेलिया ओलंपिक कमेटी के सीईओ श्री मेट कैरोल, फिक्की की अध्यक्ष एवं अपोलो अस्पताल ग्रुप की ज्वाइंट एम.डी. डॉ संगीता रेड्डी तथा फिक्की के सेक्रेटरी जनरल श्री दिलीप शेनॉय उपस्थित थे।