November 29, 2021

vedicexpress

vedicexpress

मासूम मर्डर केस-मां रिमांड पर: बेटा चाहती थी स्वाति, बेटी हुई तभी से उसके प्रति नफरत थी, इसीलिए मार किया तीन माह की मासूम का मर्डर

उज्जैन- 3 माह की बेटी को मारने के जुर्म में गिरफ्तार मां से सच उगलवाने के लिए कोर्ट ने चौबीस घंटे के लिए स्वाति को पुलिस को सौंप दिया है। कल रविवार के दिन पुलिस फिर स्वाति को पूछताछ के बाद कोर्ट में पेश करेगी।

हालांकि पुलिस के पास इस बात के पर्याप्त सबूत हैं कि हत्या विरति की मां स्वाति ने ही की है। पुलिस के मुताबिक स्वाति बहुत ही शातिर है और बार-बार अपने बयान बदल रही है। लेकिन पुलिस उसे जेल भेजने के पहले पूरी तरह से सच्चाई उसी से जानना चाहती है। लेकिन वह पुलिस को लगातार गुमराह कर रही है। इसीलिए उसे धारा 302 के तहत गिरफ्तार कर कोर्ट मांगा है।

खाचरौद में टूर एंड ट्रेवल्स संचालित करने वाले भटेवरा परिवार को जानने वाले बताते हैं कि बच्ची होने के बाद से ही वह पूरे परिवार की लाड़ली थी, लेकिन मां स्वाति उसे पसंद नहीं करती थी। वह लगातार उसकी उपेक्षा करती थी और उसके सभी काम भी परिवार के दूसरे सदस्य ही करते थे। दरअसल स्वाति बेटा चाहती थी, लेकिन बेटी होने के बाद से ही वह परेशान रहने लगी थी।

वैसे तो पुलिस साफ तौर पर कुछ भी कहने से बच रही है। एएसपी आकाश भूरिया ने कहा कि हमारे पास पर्याप्त सबूत हैं कि विरति को उसकी मां स्वाति ने ही मारा है। उन्हीं आधार पर हमने नियमानुसार स्वाति को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया है। लेकिन वे तथ्य हम सार्वजनिक नहीं कर सकते।

खाचरौद में तीन माह की बेटी को मारने के 5 दिन पहले 7 अक्टूबर को पति अर्पित ने पत्नी स्वाति को नया मोबाइल दिलाया था। मोबाइल हाथ में आते ही सबसे पहले स्वाति ने गूगल पर अकाउंट बनाया। इसके बाद अगले तीन दिन यानी 10 अक्टूबर तक वो बच्ची को मारने की तरीके ही सर्च करती रही। और 12 अक्टूबर को उसने बच्ची को पानी की हौद में डुबोकर मार दिया।

ऐसे हुआ पुलिस को शक
पति ने बच्ची को मारने के संबंध में कई सवाल सर्च किए। मसलन, बच्ची को कैसे मारें, कैसे बच्चों को आसानी से मारा जा सकता है, ऐसा क्या करें कि मारने वाला पकड़ा न जाए, सबसे आसान मौत क्या हो सकती है? बच्चों को कैसे मारें कि उनके शरीर पर कोई चोट के निशान न हो? कैसे मारें की पोस्टमार्टम में किसी पर शक न हो? जैसे कई सवाल स्वाति ने गूगल पर सर्च किए थे।

बीस मिनट में हुआ मर्डर तब घर पर कोई नहीं था, फिर सभी सबूत स्वाति की ओर इशारा कर रहे थे –
विरति 12 अक्टूबर दोपहर 1.20 से 1.40 बजे के दौरान घर में से गायब हुई थी। उस समय अर्पित घर के नीचे दुकान पर था। पिता कुछ समय पहले बाहर गए थे। घर में स्वाति और उसकी सास अनिता भटेवरा के अतिरिक्त कोई नही था। जांच की तो स्वाति शंका के घेरे में आ गई। उसने मोबाइल में 10 अक्टॅूबर को इंटरनेट पर पानी में कैसे डूबोकर मार सकते है सर्चिंग किया मिला। इसी आधार पर उसे गिरफ्तार किया गया है।