June 27, 2022

vedicexpress

vedicexpress

प्रोफेसर ने नर्स की पीठ पर हाथ फेरा:ग्वालियर में पीड़िता बोली-कहते हैं बहुत सुंदर हो; हमारे साथ बैठ लेगी तो क्या चला जाएगा

ग्वालियर में ब्लड प्रेशर की जांच कराने आए अटल बिहारी वाजपेयी IIITM संस्थान के प्रोफेसर आदित्य त्रिपाठी पीठ पर हाथ फेरते हैं। हाथ पकड़ लेते हैं, जब मना करती हूं तो कहते हैं तेरी तो शादी भी नहीं हुई है हमारे साथ बैठ लेगी तो क्या चला जाएगा। फिर मेल नर्स जितेन्द्र भारद्वाज से कहते हैं इसे घर लेकर आना। मैंने मना किया तो बोले-तुम बहुत सुंदर लगती हो तुम्हें पता नहीं है। मैंने पूछा सर आप मेरे साथ ऐसा क्यों कर रहे हो तो कहते हैं कि तुम बनी ही शोषण के लिए हो।

35 वर्षीय नर्स ने IIITM के प्रोफेसर और डिस्पेंसरी के मेल नर्स के खिलाफ लगातार दो साल से हो रही प्रताड़ना पर कुछ इस तरह अपनी पीड़ा दैनिक भास्कर को बताई। पीड़ित नर्स की शिकायत पर हजीरा थाने में प्रोफेसर और मेल नर्स के खिलाफ पुलिस ने FIR दर्ज कर ली है।

शिकायत करने पहुंची पीड़ित नर्स।

शिकायत करने पहुंची पीड़ित नर्स।

दो साल से कर रहे थे छेड़छाड़
ग्वालियर के अटल बिहारी वाजपेयी IIITM संस्थान स्थित डिस्पेंसरी में झांसी निवासी 35 वर्षीय काजल (बदला हुआ नाम) बतौर नर्स काम करती है। वह 2018 से वहां आउटसोर्स कर्मचारी है। आरोप है कि डिस्पेंसरी में आउट सोर्स पर काम करने वाला मेल नर्स जितेन्द्र भारद्वाज अप्रैल 2020 से उसके साथ छेड़छाड़ कर रहा है। शरीर पर कहीं भी हाथ मार देता था। किसी के भी सामने हाथ पकड़ लेता है। एक दिन नर्स डिस्पेंसरी में रो रही थी। तभी वहां IIITM के प्रोफेसर आदित्य त्रिपाठी अपना ब्लड प्रेशर चेक कराने आए। उन्होंने रोने का कारण पूछा ताे पीड़िता ने बता दिया। उस समय तो वह वहां से चले गए। 10 दिन बाद फिर BP चेक कराने आए तो उन्होंने नर्स से छेड़खानी की। नर्स ने विरोध किया तो कहा कि तेरी अभी शादी नहीं हुई है फिर परेशानी क्या है। मेल नर्स जितेन्द्र का ही पक्ष लेते हुए कहा कि इसे रूम पर लेकर आओ। पीड़िता ने जब इनकार किया तो उसकी पीठ पर हाथ फेरते हुए बोले कि तू बहुत अच्छी लगती है, तुम बनी ही शोषण के लिए हो। इसके बाद कई बार पीड़िता के साथ छेड़खानी की गई। पर वह उनके सामने झुकी नहीं। इस पर पीड़िता ने मामले की शिकायत विभाग में भी की, लेकिन कोई रिस्पांस नहीं लिया गया। लिखित शिकायत तो ली ही नहीं गई। इसके बाद प्रभारी मनोज दास को मेल के जरिए शिकायत की।

शिकायत की तो बहन-भाई को नौकरी से निकाला
पीड़िता ने बताया कि जब उसने आरोपियों की बात नहीं मानी तो उन्होंने उसी संस्थान में कार्यरत उसकी बहन और भाई को नौकरी से निकलवा दिया। प्रोफेसर लगातार मुझे जान से मारने की धमकी दे रहा है। कहता है कि शिकायत करने का परिणाम अच्छा नहीं होगा। पीड़िता काफी दहशत में थी। उसने अपनी छोटी बहन को सारी बात बताई। जिसके बाद बहन ने उसे कानूनी कार्रवाई के लिए कहा। पीड़ित नर्स हजीरा थाना पहुंची और मामले की शिकायत की। इस मामले में आरोपी प्रोफेसर आदित्य त्रिपाठी से संपर्क किया गया लेकिन उन्होंने अपना मोबाइल बंद कर लिया।

छेड़छाड़ का केस दर्ज कराया
सीएसपी रवि भदौरिया का कहना है कि एक महिला ने एक संस्थान के प्रोफेसर सहित दो पर छेड़छाड़ का आरोप लगाया था। जिस पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। घटना की जांच की जा रही है। जो तथ्य निकलकर सामने आएंगे उसके आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।