June 17, 2021

vedicexpress

vedicexpress

पत्रकारों को सरकार ने छोड़ा राम भरोसे

पत्रकार जिये या मरे इससे सरकार को कोई लेना देना नहीं है इसका सीधा सा मतलब यह है कि पत्रकार सरकार के लिए मरे जरूरी वस्तु बनकर रह गया है ना आयुष्मान योजना का लाभ नाही विज्ञापनों का लाभ और ना ही मृत्यु होने पर सम्मान निधि का लाभ बस शासन की योजनाओं का बखान करते करते ही वह मर जाता है और घर परिवार को उम्र भर का जख्म बतौर उपहार दे जाता है मीडिया का चौथा स्तंभ कहलाने में भी अब शर्म सी महसूस होने लगी है क्योंकि बाकी के तीनों स्तंभ और उनसे जुड़े लोग इतने बेबस और लाचार नहीं है जितना चौथा स्तंभ का प्राणी हैं जरा अपने तीनों स्तंभों को लोगों की तरफ नजर डालकर देखो कितने मजे में हैं तीनों स्तंभ इस समय का चौथा स्तंभ इतना अधिक कमजोर है कि वह कितने दिनों तक जिंदा रहता है यह भी सोचनीय प्रश्न है आज कोरोना काल की विकट परिस्थितिओ में हमने सरकार से पत्रकार और उनके परिवारजनों को आयुष्मान योजना का लाभ शीघ्र ही घोषित किए जाने की मांग की थी परंतु सरकार के कानों में जूं तक नहीं रेंगी यह केसी लोकतांत्रिक प्रक्रिया है हम ऐसी लोकतांत्रिक प्रक्रिया का हिस्सा है सोच समझ कर मंन विचलित हो जाता है आज हमारे चौथे स्तंभ की यह हालात का जिम्मेदार चंद्र चाटुकार पत्रकार है जो मालामाल हो गए हैं जिन्हें अपने भाइयों का दर्द ही नहीं दिखता बस वह तो हर समय चापलूसी का नया विश्व कीर्तिमान बनाने में ही अपनी श्रेष्ठता संभालते हैं आज दो राहे पर पत्रकार और उसका परिवार खड़ा है हमने जिन पर भरोसा किया शायद वही हमारे भरोसे के काबिल नहीं थे जागो मित्रों जागो अब समय है सच और झूठ में से किसी को चुनने का बहुतचुन लिया झूठ को अब तो सच का साथ दो तुम्हारा हमदर्द तुम्हारा भाई संयुक्त पोस्ट है vedicexpress फॉर कश्मीर वाणी की वेबसाइट पर जाने के लिए यहां क्लिक करें

गंगाधर मलाजपुरे अध्यक्षऑफ इंडिया राष्ट्रीय नेशनल मीडिया भोपाल मध्य प्रदेश